Jai peera di

jai-peera-di

💐” मैं कौन हूँ मुझे अब ये ख़बर नहीं !
जिंदा लाश हूँ ,पर कब्र नहीं !
दवा करूँ या दुआ करूँ किससे !
तू खुदा है जो मुझसे जुदा भी नहीँ !
तू मेरा भी नहीं ,सबका भी है !
तुम क्या हो कौन हो ,क्यों याद आते हो !
मेरे रूह में भी हो ,मुझे ये ख़बर भी नहीं !” 💐

© 2017 God is one word. All rights reserved.