Krishna

Krishna

*??मेरे ?“कान्हा” ??* *खुद चले आओ या हमको बुला लो,* *कि जिन्दगी अब तन्हा बसर नहीं होती।* *आँसुओं से भीगा रहता है दामन मेरा ,* *जाने क्यों तुमको खबर नहीं… Read More →

Krishna

पलकें झुकें और नमन हो जाए, मस्तक झुके, और वंदन हो जाए, ऐसी नज़र,कंहाँ से लाऊँ कि, तुझे याद करूँ और तेरा दर्शन हो जाए

Krishna

……..जिधर देखु तुम हे तुम हो कान्हा…… क्या कहूं रे कन्हैया तुझको , तूने तो मुझसे मुझी को चुरा लिया ! पल भर को नजरे क्या मिलाई , तूने तो… Read More →

Krishna

सुनो………. मेरे साँवेर शोना…… ” फूल बनकर तेरे चरणों मे रहने की तमन्ना है काजल बनकर तेरे नैनों मे समाने की तमन्ना है ? सब चीज हासिल है ज़माने की… Read More →

Krishna

****कृष्णा**** एक अनाम सा रिश्ता ….. मेरे तुम्हारे बीच.. लफ्जो की सीमा मे… जिसे नहीं बांधा जा सकता… क्या नाम दूं इसे… प्यार, प्रेम , स्नेह, दोस्ती या फिर मेरे… Read More →

© 2018 God is one word. All rights reserved.